Join us?

खेल

Sports News: 19 वल्र्ड कप फाईनल: ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के विजेता से भिड़ेगा भारत

नईदिल्ली। भारतीय टीम साउथ अफ्रीका को सेमीफाइनल में रौंदने के बाद सातवें आसमान पर है। टीम इंडिया की भिड़ंत अंडर-19 वल्र्ड कप 2024 में ऑस्ट्रेलिया या पाकिस्तान टीम से हो सकती है। हालांकि, भारतीय खिलाड़ी जिस फॉर्म में हैं उसे देखते हुए लग रहा है कि छठा खिताब देश आ रहा है। भारतीय टीम अंडर-19 विश्व कप 2024 का खिताब जीतने से सिर्फ एक कदम दूर है। भारत ने साउथ अफ्रीका को उसी के मैदान पर रोमांचक मुकाबले में हराया, जबकि रविवार को होने वाले खिताबी मुकाबले में उसकी भिड़ंत ऑस्ट्रेलिया या पाकिस्तान से हो सकती है। जूनियर क्रिकेट के महाकुंभ का दूसरा सेमीफाइनल ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान के बीच है। दूसरी ओर, टीम इंडिया छठी बार विश्व विजेता बनने के लिए पूरी तरह तैयार है। इनमें से कोई भी टीम फाइनल में आए भारत को फर्क नहीं पड़ता है। आइए देखें उन 5 प्लेयर्स की लिस्ट, जो खिताबी मुकाबले में भारत के लिए सबसे बड़े हथियार होंगे… उदय सहारन कंसिस्टेंट हैं और लगातार परफॉर्म कर रहे हैं। जब भारत के 4 टॉप बल्लेबाज 32 रनों पर निपट गए तो उन्होंने सचिन धास के साथ मिलकर 171 रनों की साझेदारी करते हुए भारत को जीत तक पहुंचाई। वह टूर्नामेंट में सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। उनके नाम 389 रन हैं, जिसमें एक शतक और 3 अर्धशतक शामिल है। उनकी कवर ड्राइव कमाल की है। कप्तान का बल्ला चला तो कोई भी टीम हो कोई फर्क नहीं पड़ता। मुशीर खान भारतीय टेस्ट टीम में शामिल किए गए सरफराज खान के भाई हैं। मुशीर की स्क्क 360 डिग्री शॉट खेलना है। वह किसी भी परिस्थिति में बड़ी हिट लगाने से क्लासिक शॉट्स से विपक्षी टीम के हौसले तोडऩे में सक्षम हैं। वह सेमीफाइनल में हालांकि फेल हुए, लेकिन इसके बावजूद वह गजब के फॉर्म में हैं। उनके नाम 6 मैचों में 336 रन हैं और उनका स्ट्राइक रेट 100 से अधिक है, जबकि 2 शतक और एक शतक जड़े हैं। उनकी तुलना सूर्यकुमार यादव से हो रही है। सचिन धास एक अलग ही जोन के बल्लेबाज देखने को मिले हैं। महान सचिन तेंदुलकर के नाम उनके माता-पिता ने उनका नाम रखा और टीम में वह 10 नंबर की जर्सी पहनते हैं। अभी तक अपने शानदार प्रदर्शन से उस जर्सी और सचिन के नाम को साबित भी किया है। वह टूर्नामेंट में तीसरे सर्वश्रेष्ठ स्कोरर हैं। उनके नाम 294 रन हैं, जिसमें एक शतक और एक अर्धशतक है। सेमीफाइनल में उन्होंने नाजुक समय पर 96 रनों की मैच विनिंग पारी खेली। टूर्नामेंट जैसे-जैसे आगे बढ़ा राज लिम्बानी कहीं अधिक भरोसेमंद साबित हुए हैं। सेमीफाइनल में इस राइट आर्म मीडियम पेसर ने कमाल की बॉलिंग करते हुए 3 विकेट झटके। अब तक वह 8 विकेट ले चुके हैं और बल्ले से भी कमाल करने में सक्षम हैं। साउथ अफ्रीक के खिलाफ सेमीफाइनल में उन्होंने अहम मौके पर नाबाद 13 रन की पारी खेली थी। अक्षर पटेल-रविंद्र जडेजा की तरह सौमी पांडे ऑर्थोडॉक्स गेंदबाज हैं। विश्व कप में वह 17 विकेट ले चुके हैं और सबसे अधिक विकेट लेने वालों की लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं। उनकी बलखाती गेंदें अभी तक विपक्षी बल्लेबाजों की समझ से परे रही हैं। सौमी पांडे का पेसर्स के अनुकूल साउथ अफ्रीकी पिचों पर इस तरह की दमदार बॉलिंग करते देखना अपने आप में खुशी देने वाला है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button