Join us?

विशेष

Special News: सुबह के नाश्ते में खाएं ये चीजें, घटेगा कोलेस्ट्रॉल, कम होने लगेगा हार्ट अटैक का खतरा

लोगों में हार्ट डिजीज का खतरा बढ़ता ही जा रहा है और हार्ट प्रॉब्लम का रिस्क बढ़ाने वाले सबसे बड़े कारको में हाई कोलेस्ट्रॉल भी शामिल है। कोलेस्ट्रॉल कहीं आपकी जिंदगी मे हावी न पड़ जाए, इसलिए इसका बचाव जरूरी है। सबसे पहले आपको यह समझने की जरूरत है कि कोलेस्ट्रॉल क्या है, इसके बाद ही अपने लिए सही डाइट का चुनाव कर पाएंगे।

कोलेस्ट्रॉल एक वैक्सी सब्सटांस की तरह है, जिसका निर्माण लिवर द्वारा होता है। जब कोलेस्ट्रॉल का लेवल बढ़ जाता है तो फैटी डिपोजिट आर्टरीज में बनने लगते है। फिर विभिन्न अंगों के ब्लड सर्कुलेशन में रूकावट आने लगती है, जो हार्ट अटैक और स्ट्रोक का कारण बन सकता है।

हाई कोलेस्ट्रॉल का सबसे बड़ा कारण होता है, हमारा गलत खानपान। इससे बचाव के लिए जरूरी है कि आप अपनी डाइट में उन चीजों को शामिल करें, जो शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को न बढ़ाएं। आइए जानते हैं कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल में रखने के लिए सुबह का नाश्ता कैसा होना चाहिए।

ओट्स

ओट्स आपके हार्ट और ओवरऑल हेल्थ के लिए सबसे अच्छा सुबह का नाश्ता है। ओट्स फाइबर का अच्छा सोर्स है, इसमें सॉल्युबल फाइबर होता है और डाइजेस्टिव ट्रैक्ट में मौजूद एलडीएल कोलेस्ट्रॉल से अटैच हो जाता है। जिससे बैड कोलेस्ट्रॉल शरीर से आसानी से बाहर निकल जाता है।

 

व्होल ग्रेन सैंडविच

व्होल ग्रेन सैंडविच भी आपके ब्रेकफास्ट के लिए एक अच्छा ऑप्शन है। इसमें आपको हाई फाइबर, लो कैलोरी और विटामिन जैसे कई पोषक तत्व मिलेंगे। ये वेट लॉस करने वालों के लिए भी अच्छा ब्रेकफास्ट है। इसका सेवन करके कई फायदे मिल सकते हैं।

 

आलमंड मिल्क

आलमंड मिल्क यानी की बादाम का दूध आपके हेल्थ के लिए बहुत अच्छा है। इसमें हेल्दी फैट्स, फाइबर, मैग्नीशियम और विटामिन ई की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसमें मौजूद गुण एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम कर सकते हैं और दिल की बीमारी से बचाते हैं।

 

योगर्ट विद फ्रूट्स

फ्रूट्स के साथ योगर्ट का सेवन सुबह के नाश्ते में काफी फायदेमंद है। इसके लिए आपको लो फैट योगर्ट लेना है और इसमें फलों को काटकर मिलाना है। यह प्रोबायोटिक्स का एक अच्छा स्रोत है, जो आपके पाचन को सुधारते हैं और कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकते हैं।

 

मूंगफली

मूंगफली में मोनोअनसैचुरेटेड्स और पोलीअनसैचुरेटेड्स फैट होते हैं। इन्हें गंदे कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करते हुए देखा गया है। इसमें फाइबर के साथ प्रोटीन की भी हाई मात्रा पाई जाती है।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button